गुरुवार, 1 जुलाई 2010

छत्तीसगढ़ के दो कोच अमरीका जाएंगे

भारत में बास्केटबॉल को बढ़ाने के लिए भारतीय बास्केटबॉल फेडरेशन देश के १० नामी प्रशिक्षकों को अमरीका में नई तकनीकी की जानकारी लेने के लिए भेज रहा है। अमरीका जाने वाले प्रशिक्षकों में छत्तीसगढ़ के भी दो प्रशिक्षक अंतरराष्ट्रीय कोच राजेश पटेल के साथ आरएस गौर शामिल हैं।
भारतीय बास्केटबॉल फेडरेशन देश में बास्केटबॉल का स्तर बढ़ाने के लिए कई काम कर रहा है। इसी कड़ी में फेडरेशन ने देश के १० ऐसे प्रशिक्षकों को अमरीका भेजने का फैसला किया है जो प्रशिक्षक अपनी राज्य की टीमों के लिए लगातार मेहनत करते हैं। ऐसे प्रशिक्षकों में सबसे पहले छत्तीसगढ़ के राजेश पटेल का नाम है। राजेश पटेल राज्य में बालिका टीमों को तैयार करने का काम करते हैं। श्री पटेल १९७९ से भिलाई स्टील प्लांट में काम कर रहे हैं। उनको १९८१ में मप्र का खिलाडिय़ों को दिया जाने वाला विक्रम पुरस्कार मिला। इसके बाद उन्होंने ८७-८८ से भिलाई में खिलाडिय़ों को प्रशिक्षण देने का जो सिलसिला प्रारंभ किया है, वह अब तक जारी है। उन्होंने अपने २२ सालों के प्रशिक्षक के जीवन में २२ अंरराष्ट्रीय खिलाड़ी तैयार हैं और उनको जहां मप्र का प्रशिक्षकों को दिया जाने वाले विश्ममित्र पुरस्कार मिल चुका है, वहीं छत्तीसगढ़ का वीर हनुमान सिंह पुरस्कार भी मिला है। मप्र और छत्तीसगढ़ की टीमों ने उनके मार्गदर्शन में राष्ट्रीय स्पर्धाओं में अब तक ४७ स्वर्ण, १० रजत और १६ कांस्य पदक जीते हैं। श्री पटेल द्वारा तैयार किए गए ४०२ खिलाडिय़ों ने स्वर्ण, ८६ ने रजत और ८७ ने कांस्य पदक जीते हैं। राजेश पटेल पिछले १० साल से लगातार भारतीय टीम के प्रशिक्षक रहे हैं।
एक तरफ जहां महिला खिलाडिय़ों को तैयार करने का काम श्री पटेल करते हैं, वहीं प्रदेश की बालक टीमों को तैयार करने का काम आरएस गौर करते हैं। वे भिलाई में १९८७ से काम कर रहे हैं। उनके मार्गदर्शन में राज्य की टीमों ने राष्ट्रीय स्पर्धाओं में ७ स्वर्ण, ५ रजत और ६ कांस्य पदक जीते हैं। उन्होंने अब तक ८ अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी तैयार किए हैं।
इन दोनों प्रशिक्षकों को भारतीय बास्केटबॉल फेडरेशन अमरीका भेज रहा है। अमरीका के जार्ज मेशन विश्वविद्यालय में एक से १४ जुलाई तक भारत के १० प्रशिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। वहां आधुनिक तकनीक की जानकारी दी जाएगी। इसी के साथ बताया जाएगा कि खिलाडिय़ों को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने के लिए क्या-क्या किया जाए।
छत्तीसगढ़ के लिए गौरव की बात
प्रदेश बास्केटबॉल संघ के अध्यक्ष राजीव जैन का कहना है कि छत्तीसगढ़ के दो प्रशिक्षकों का अमरीका में प्रशिक्षण के लिए चुना जाना छत्तीसगढ़ के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि वे पिछले एक दशक से भी ज्यादा समय से राजेश पटेल को भिलाई के मैदान में खिलाडिय़ों के साथ रोज आठ से दस घंटे अभ्यास करवाते हुए देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि श्री पटेल के प्रशिक्षण का लोहा भारतीय फेडरेशन भी मानता है तभी तो उनको हमेशा भारतीय टीम की कमान दी जाती है। श्री जैन ने कहा कि यह तो राज्य के बास्केटबॉल खिलाडिय़ों के लिए गौरव की बात है कि उनको श्री पटेल के जैसा कोच मिला है। उन्होंने कहा कि जब श्री पटेल के साथ श्री गौर भी अमरीका से प्रशिक्षण लेकर वापस आएंगे तो राज्य के खिलाडिय़ों को इसका फायदा मिलेगा। इसमें कोई दो मत नहीं है कि राज्य की टीमें तब राष्ट्रीय स्तर पर और ज्यादा सफल होंगी।

1 टिप्पणी:

आचार्य जी ने कहा…

सार्थक लेखन।

हिन्दी में लिखें

खेलगढ़ Headline Animator

खेलगढ़ की चर्चा हिन्दुस्तान में